Connect with us

सेहत

नींबू के छिलका के चमत्कारी गुण, मिनटों में दूर करे जोड़ों का दर्द

हेल्थ डेस्क। आजकल शरीर के जोड़ों में दर्द होना एक आम समस्या बन गई है आजकल कम उम्र के लोग भी शरीर में जोड़ों के दर्द से बहुत ज्यादा परेशान होते हैं जोड़ का दर्द पैरों के घुटनों कोहनियों गर्दन बाजू और कमर में हो सकता है इन समस्याओं को छुटकारा पाने के लिए प्रतिदिन व्यायाम और पौष्टिक भोजन का सेवन जरूर करें यह आपको कई जानलेवा बीमारियों से भी दूर रखेगा साथ ही साथ बेहतर जीवन शैली जोड़ों के दर्द से आराम दिलाने में महत्वपूर्ण अदा भी निभाती है इसके बाद भी अगर आप जोड़ों के दर्द से परेशान है तो आज आपके लिए शानदार घरेलू नुस्खा लेकर आए हैं जिसके उपयोग से आप जोड़ों के दर्द को मिनटों में ही दूर भगा सकते हैं…

nibu-ke-chilka-ke-chamtkari-gun-dard-dur-karne-ka-gharelu-nukkha-hindi

शायद आपको इसके बारे में जानकारी है कि नहीं आपके घर में एक ऐसा फल है जो आपके पुराने से पुराने जोड़ों के दर्द को चुटकी में खत्म कर देती है जिस फल के बारे में हम बात कर रहे हैं वह फल कई तरह के पोषक तत्वों से भरपूर हैं जैसे मैग्नीशियम पोटेशियम कैल्शियम फोलिक एसिड फास्फोरस विटामिन ए सी बी1 बी6 और तत्व मौजूद हैं
आप नींबू से भली भांति परिचित हैं और आप उसके सेवन भी करते हैं लेकिन आपको किसी ने यह नहीं बताया होगा कि नींबू का छिलका जोड़ों के दर्द से परेशान व्यक्तियों के लिए वरदान साबित होता है आज हम आपको बताएंगे कि नींबू के छिलकों से जोड़ों का पुराना दर्द कैसे मिनटों में दूर कर सकते हैं


नींबू के छिलका से मिनटों में दूर करें जोड़ों का दर्द जाने तरीका

आवश्यक सामग्री:- दो नींबू छिलके ऑलिव आयल 100ML

बनाने की विधि:- सबसे पहले नींबू के छिलके को गिलास में डाल लीजिए और फिर उसमें थोड़ा सा आलिव आयल डाल दीजिए उसके बाद विलास को अच्छी तरह बंद करने के बाद इस सामग्री को 2 हफ्ते के लिए वैसे ही छोड़ दें
2 हफ्ते के बाद आप का मिश्रण पूरी तरीके से तैयार हो जाएगा किसी भी रेशमी कपड़े में थोड़ा श्याम मिश्रा डालकर प्रभावित जगह पर लगाएं साथ ही बैंडेज से कवर करते हैं एवं 24 घंटे तक इसको जिस जगह पर आप लगाएं वहां पर रहने दे उसके बाद इस के चमत्कारी फायदा आप को खुद पता चल जाएगा

इसे भी पढ़ें-

Advertisement
4 Comments

4 Comments

  1. How To Be A Better Wife

    November 15, 2017 at 5:19 pm

    I was studying some of your articles on this internet site and I think this website is real informative ! Keep posting.

  2. Marriage Tips Every Wife Needs To Hear

    November 15, 2017 at 5:39 pm

    You made some decent points there. I looked on the internet for the issue and found most individuals will go along with with your website.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सेहत

हर बड़ी बीमारी की दवा है ये खास ‘फल’, नाम में ही छिपा है सारा रहस्य

Passion-fruit-health-benefits-and-side-effects-hindi

हेल्थ टिप्स। फल खाने से शरीर को कई सारे विटामिन्स और मिनरल्स मिलते हैं लेकिन आज हम आपको एक ऐसे फल के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका रोजाना सेवन करने से आपके शरीर को पांच तरह के फायदे हो सकते हैं साथ ही आपके शरीर को निरोग बना देगा। इस फल के सेवन करने से हमारे शरीर को विभिन्न प्रकार के फायदे होते है जो हमरे दैनिक जीवन के लिए खास होता है तो आइये जानते है विस्तार से

हर बड़ी बीमारी की दवा है ये खास ‘फल’, नाम में ही छिपा है सारा रहस्य

हाई ब्लड प्रेशर:- पैशन फ्रूट में अधिक मात्रा में पोटेशियम होता है लेकिन सोडियम नहीं होता जिसकी वजह से ये फल हाई बल्ड प्रेशर होने से बचाता है। इस लिए इस फल के सेवन प्रतिदिन करना चाहिए।Passion-fruit-health-benefits-and-side-effects-hindi

आंखों को रखता है स्वस्थ:- इस फल के सेवन करने से इसमें विटामिन ए और सी होता है जो आखों को स्वस्थ रखने में मदद करता है। साथ ही हमारे हमारे शरीर को निरोग रखता है।



हीमोग्लोबिन बढ़ाने में मददगार:- पैशन फ्रूट में आयरन और विटामिन सी की अधिक मात्रा होती है जो हीमोग्लोबिन बढ़ाने में सहायता करता है। इस फल के सेवन करने से हमारे शरीर के रक्त में बढ़ोत्तरी होता है साथ ही शारीरिक और मानसिक स्थिति सही रहता है।

Passion-fruit-health-benefits-and-side-effects-hindi

पाचन तंत्र को बनाता है बेहतर:- इसमें फाइबर मौजूद होता है जिससे पाचन तंत्र को बेहतर तरीके से काम करने में मदद मिलती है।

कोलेस्ट्रॉल को करता है नियंत्रित:- फाइवर कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने का काम करता है। आपको बता दें कि पैशन फ्रूट चार तरह का होता है पीला, लाल, बैंगनी और हरा। ये फल जूसी होता है और इसमें बहुत सारे बीज होते हैं।

इसे भी पढ़ें-

Continue Reading

सेहत

क्या मच्छरों से भी फैल सकता है एचआईवी, जानिए सच्चाई

Mosquito-se-fail-skata-hai-hiv-aids-hindi-health-gyan

हेल्थ डेस्क। आप सभी ने एचआईवी के बारे में जरूर सुना होगा। यह एक वायरस है, जिसकी वजह से एड्स् नामक लाईलाज रोग उत्पन्न होता है। यह रोग मुख्य रूप से असुरक्षित योन संबंध बनाने से उत्पन्न होता है। यह दूषित रक्त, सुई के माध्यम से फैलता है। ऐसे में बहुत से लोगों में इस बात को लेकर असमंजस बनी रहती है कि क्या रक्त चूसने वाले मच्छरों के माध्यम से भी यह रोग फैल सकता है अथवा नहीं?आज के इस महत्वपूर्ण आर्टिकल में हम इसी तथ्य को उजागर करने वाले हैं तो आइये जानते है विस्तार से………

मच्छरों से भी फैल सकता है एचआईवी, जानिए

जैसा की आप जान गए हैं कि एडस, एचआईवी से प्रभावित रक्त के माध्यम से भी फैल सकता है। ऐसे में आप में से बहुत से लोगों के मन में यह सवाल उठता होगा कि मच्छर भी तो रक्त का आदान प्रदान करते हैं, तो क्या उनके माध्यम से भी यह फैल सकता है?Mosquito-se-fail-skata-hai-hiv-aids-hindi-health-gyan

आपके इस सवाल का जवाब है, नहीं। एचआईवी एड्स् मच्छरों के माध्यम से नहीं फैल सकता। इसके पीछे मुख्यत तीन कारण जिम्मेदार हैं, जो कि निम्नलिखित हैं-

इसका पहला कारण यह है कि मच्छर जब एचआईवी पॉजिटिव व्यक्ति को काटते हैं तो एचआईवी वायरस उसके अंदर जाता जरूर है, लेकिन मच्छरों की सुईनुमा चोंच, जिसे स्नाउट कहते हैं, के माध्यम से अंदर जाने पर ये वायरस डाइजेस्ट हो जाते हैं।



इसके पीछे दूसरा कारण यह है कि मच्छर जब ऐसे व्यक्ति का रक्त चूसते हैं तो रक्त की उस मात्रा में एचआईवी वायरस का इंटेक इतना कम होता है कि वह नया एड्स रोग डेवलप करने में असक्षम होता है।

मच्छरों के काटने से एचआईवी एड्स् ना फैलने का तीसरा कारण यह है कि जब ये मच्छर किसी व्यक्ति को काटते हैं तो इनके चोंच में बने ट्यूब्स के माध्यम से केवल सलाइवा यानी मच्छरों का लार हीं हमारे शरीर में इंजेक्ट पाता है। जिसकी वजह से केवल डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया आदि जैसे रोग हीं फैल सकते हैं। उनके द्वारा पिए हुए रक्त का संचार हमारे शरीर में नहीं होता।

इस सच्चाई को जानकर आप राहत की सांस ले सकते हैं। क्योंकि अगर मच्छरों के माध्यम से यह लाईलाज रोग फैल जाता, तो ऐसी स्थिति बहुत हीं भयावह हो जाती।

इसे भी पढ़ें-

Continue Reading

सेहत

सुबह खाली पेट पानी पीने से क्या होता है, क्लिक कर जानें

health-benefits-subah-khali-pet-pani-pine-ke-fayde

हेल्थ डेस्क। हमारी दैनिक दिनचर्या में पानी कितना महत्वपूर्ण है, इसका विस्तृत वर्णन आयुर्वेद में मिलता है। हमारे शरीर का लगभग 71 प्रतिशत भाग पानी से बना हुआ है। ऐसे में आप समझ ही सकते हैं कि शरीर में इसका संतुलन बनाए रखना कितना आवश्यक है। आयुर्वेद के नियमानुसार सुबह खाली पेट पानी पीना जल संतुलन बनाए रखने के लिए उत्तम माना गया है। केवल जल संतुलन के लिए ही नहीं बल्कि अन्य बहुत से कारणों से भी यह अनिवार्य है।आइये जानते है सुबह खाली पेट पानी पीने से क्या होते है उसके बारे में……

सुबह खाली पेट पानी पीने से होने वाले फायदे

सुबह उठते हैं खाली पेट पानी पीना आंत की सफाई के लिए अति आवश्यक है। इससे आंत में फंसे भोजन आसानी से साफ हो जाते हैं। आंत की सफाई के साथ-साथ विषाक्त पदार्थ भी शरीर से बाहर हो जाते हैं। साथ ही सुबह का ताजा लार, जिसे सर्वोत्तम सलाइवा एंजाइम माना जाता है, आमाशय में पहुंच जाता है, जो हमारी भूख बढ़ाने में मददगार होता है।

health-benefits-subah-khali-pet-pani-pine-ke-fayde

सुबह सुबह खाली पेट पानी पीने से तीनों विकार वात, पित्त और कफ नियंत्रण में रहते हैं। जिस कारण रोगों के संक्रमण का खतरा बहुत कम हो जाता है। खाली पेट पानी पीने को एक नियम के तौर पर अपनाने से पाचन तंत्र की समस्याएं जैसे, कब्ज, गैस, एसिडिटी आदि दूर हो जाते हैं। साथ ही नित्यकर्म की अनियमितता भी दूर हो जाती है।



रात को सोने के पश्चात हमारा शरीर लंबे समय तक पानी से वंचित रह जाता है। ऐसे में सुबह खाली पेट पानी पीने से हमारा शरीर फिर से हाइड्रेट हो जाता है, जिस कारण हम दिनभर तरोताजा महसूस करते हैं।

शरीर के रस प्रक्रियाओं के संचालन को मेटाबोलिज्म कहते हैं। प्रात काल खाली पेट पानी पीने के प्रभाव से हमारा मेटाबोलिज्म सुचारू रूप से चलता रहता है। जिस कारण ब्लड सरकुलेशन में कोई भी परेशानी उत्पन्न नहीं होती। केवल इतना ही नहीं बल्कि इससे वजन कम करने में भी सहायता मिलती है।

health-benefits-subah-khali-pet-pani-pine-ke-fayde

सुबह खाली पेट पानी पीने के फायदे तो आप जान हीं गए। लेकिन यह भी ध्यान रखें कि पानी हमेशा धीरे-धीरे पीना चाहिए। क्योंकि तेजी से पानी पीने से हमारा आमाशय चोटिल भी हो सकता है। साथ ही यह भी ध्यान रखें कि शुरुआती दिनों में थोड़ा थोड़ा ही पानी पीएं। फिर धीरे-धीरे आप इसकी मात्रा बढा कर एक लीटर तक सीमित कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें-

Continue Reading
Advertisement
Advertisement

ट्रेंडिंग